Sunday, March 7, 2021

अजीत सिंह हत्याकांड: हरियाणा का मुस्तफा उर्फ बंटी निकला एक और शूटर, तलाश जारी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मऊ (Mau) के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की लखनऊ में हुई हत्या (Ajeet Singh Murder Case) में शामिल एक और शूटर (Shooter) की पहचान हो गई है. पता चला है कि ये शूटर हरियाणा का रहने वाला मुस्तफा उर्फ बंटी है. फिलहाल मुस्तफा लखनऊ पुलिस की पकड़ से दूर है. बता दें इस सनसनीखेज वारदात का एक शूटर संदीप सिंह बाबा बुधवार को हिरासत में लिया गया है. वहीं राजेश तोमर के तौर पर घायल शूटर की शिनाख्त हुई है. एक शूटर गिरधारी उर्फ डॉक्टर को नई दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. वहीं दो आरोपी अंकुर और बंधन के मुंबई से पकड़े जाने की सूचना है. हालांकि पुलिस ने अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी की आधिकारिक पुष्टि नहीं की है.

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड से जुड़ रहे तार!

पुलिस के अनुसार घायल शूटर अलीगढ़ का राजेश तोमर है. वह बागपत के सुनील राठी गैंग का सदस्य बताया जा रहा है. 6 जनवरी को विभूति खंड में अजीत सिंह की ताबड़तोड़ दर्जनों गोलियां दागकर हत्या कर दी गई थी. शूटआउट में एक शूटर के घायल होने की बात सामने आई थी. दिलचस्प बात ये है कि जिस सुनील राठी गैंग से इस शूटर का संबंध सामने आया है, वही सुनील राठी जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या का आरोपी है.

इस बीच बुधवार को अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुंटू सिंह और अखंड सिंह की लखनऊ कोर्ट में पेशी हुई. एसीजेएम तृतीय की कोर्ट में दोनों आरोपी पेश किए गए. बता दें बी-वारंट पर दोनों आरोपियों को पुलिस लखनऊ लाई थी. पेशी के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया.बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह का नाम आया सामने

बता दें लखनऊ के विभूतिखंड इलाके के कठौता के पास 6 जनवरी को हुए गैंगवार में पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या मामले में पूर्व बाहुबली सांसद धनंजय सिंह का भी नाम सामने आया है. गैंगवार में घायल शूटर का इलाज करने वाले सुल्तानपुर के डॉ एके सिंह ने पुलिस पूछताछ में बताया कि धनंजय सिंह ने ही उन्हें फोनकर घायल शूटर के इलाज के लिए कहा था. अब पुलिस पूर्व संसद को नोटिस भेजकर जल्द पूछताछ के लिए बुलाने की तैयारी में है.

दरअसल, अजीत सिंह हत्याकांड की जांच में जुटी लखनऊ पुलिस को जानकारी मिली थी कि गैंगवार में घायल एक शूटर का इलाज सुल्तानपुर के एक डॉक्टर एके सिंह ने किया था. इसके बाद पुलिस ने नोटिस भेजकर डॉक्टर को पूछताछ के लिए सोमवार को बुलाया था. पुलिस एके सिंह ने बताया कि धनंजय सिंह ने उन्हें इलाज के लिए कहा था. उन्हें नहीं पता था कि घायल व्यक्ति अपराधी है और उसे गोली लगी है. डॉक्टर एके सिंह पर आईपीसी 176 की कार्रवाई के बाद 5 लाख रुपये के निजी मुचलके पर उन्हें थाने से छोड़ा गया.

कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं

अब डॉक्टर के इस बयान के बाद पुलिस यह मानकर चल रही है कि अजीत सिंह हत्याकांड में धनंजय सिंह ने न सिर्फ शूटर्स मुहैया करवाए बल्कि उन्हें पुलिस से बचाने की भी कोशिश की. अब पुलिस धनंजय सिंह को नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाने की तैयारी में है. पुलिस का मानना है कि धनंजय सिंह से पूछताछ के बाद कई और बड़े नाम सामने आ सकते हैं.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,616FansLike
0FollowersFollow
17,300SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles