Tuesday, March 2, 2021

Etawah News: छेड़खानी से परेशान किशोरी ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या, पुलिस पर गंभीर आरोप

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा (Etawah) जिले के थाना बलरई क्षेत्र अंतर्गत छेड़खानी से क्षुब्ध 17 वर्षीय किशोरी ने ट्रेन से आत्महत्या (Suicide) कर ली है. घटना के बाद पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया. किशोरी परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने छेड़खानी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. उधर, आत्महत्या के बाद इटावा की प्रभारी और औरैया की एसपी अपर्णा ने अधिकारियों के साथ शुक्रवार को घटनास्थल पर गहनता से अवलोकन किया. उन्होंने मामले की जांच एसपी सिटी को सौंपी है.

अपर्णा गौतम ने बताया कि 20 जनवरी को युवती के परिजनों ने थाने में छेड़छाड़ से जुड़ी तहरीर दी थी. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी के घर दबिश दी थी लेकिन आरोपी मौके से फरार हो गया था. एसपी ने बताया कि इसके बाद दोनों पक्षों के बीच समझौते होने की बात सामने आई थी, लेकिन इसी बीच लड़की ने आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि पीड़ित पक्ष की तरफ से थाना पुलिस पर आरोपी पर कार्रवाई न करने की शिकायत की गई है, जिसकी जांच एसपी सिटी को सौंप दी गई है. जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी. एसएसपी ने बताया कि उनके द्वारा पीड़ित परिजनों को आश्वस्त किया गया है कि मामले के दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

बता दें शुक्रवार दोपहर इटावा के बलरई इलाके में छेड़खानी का मामला दर्ज न किये जाने से खफा एक किशोरी ने ट्रेन से कटकर जान दे दी. सूत्रों के अनुसार 17 वर्षीय किशोरी के साथ गांव के ही युवक ने छेड़छाड़ व बलात्कार की कोशिश की थी. परिजनो का आरोप है कि शिकायत पर भी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की और इसी से आहत किशोरी ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मिशन शक्ति योजना की इटावा पुलिस खुलेआम धज्जियां उड़ाने में लगी हुई है. मामले में कहा गया है कि छेड़खानी ओर बलात्कार की कोशिश का मामला दर्ज ना किये जाने से खफा पीड़िता लड़की ने ट्रेन से कटकर जान दे दी है.

परिजनों को थाने से भगाया

इटावा जिले के दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर बलरई रेलवे स्टेशन की यह घटना है. पीड़िता ने पुलिस कार्रवाई न होने से खफा हो रेलगाड़ी से कट करके जान दे दी. बलरई थाना प्रभारी ब्रजेन्द्र सिंह पर मामले को दबाने के साथ पीडिता और उनके परिजनो की बात को सुनने के बजाय थाने से भगाने का आरोप लग रहा है. पीड़िता के भाई के आरोप लगाया है कि थाना प्रभारी ने गंदी-गंदी गालिया देकर यह कहकर धमकाया कि लड़की का मामला दर्ज कराने पर परिवार की बदनामी होगी.

मामला सामने आने के बाद जांच करने जसवंत नगर की एसडीएम ज्योत्सना बंधु, सीओ जसंवतनगर मस्सा सिंह, एसपी सिटी प्रशांत कुमार सिंह के अलावा अफसर जांच करने मे जुटे हुए हैं. आरोप है कि बलरई गांव की 17 वर्षीय किशोरी के साथ गांव के ही युवक ने छेड़छाड़ व बलात्कार की कोशिश की. उसके भाई जितेन्द्र कुमार ने पुलिस से शिकायत की पर आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई न किए जाने से आहत होकर किशोरी ने ट्रेन से कटकर जान दे दी.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,602FansLike
0FollowersFollow
17,300SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles